ब्रेकिंग न्यूज़
1 . बीएमएल मुंजाल ग्रीन मैडोज स्कूल ने किया कला शिविर का आयोजन 2 . समाज के लिए आज भी प्रासंगिक हैं संत रविदास की शिक्षाएं : गौरव गोयल 3 . यज्ञ में आहुतियां देकर सबके लिए की गई मंगल कामना 4 . ज्वालापुर में मल्टी स्पेशलिटी क्लीनिक का उद्घाटन 5 . सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ समर्पित था संत रविदास का जीवन : आदेश चौहान 6 . शिवालिक नगर के चौराहे पर पालिकाध्यक्ष ने किया हाई मास्ट लाइट का लोकार्पण 7 . पूर्ण श्रद्धा के साथ मनाई गई गुरु रविदास जयंती 8 . जानलेवा हमले के दो आरोपियों को लक्सर पुलिस ने दबोचा 9 . 3 साल से लापता दो बच्चों को लक्सर पुलिस ने किया बरामद 10 . जनसेवा ही सबसे बड़ा धर्म : त्रिवेंद्र सिंह रावत 11 . रविदास जयंती पर ग्राम कटारपुर में निकाली गई भव्य शोभायात्रा 12 . वीएचपी,बजरंग दल की मासिक बैठक में किया गया संगठन विस्तार 13 . ग्राम बेगमपुर में हर्षोल्लास से मनाई गई गुरु रविदास जयंती 14 . बी.एम.एल. मुंजाल ग्रीन मैडोज स्कूल ने किया कला शिविर का आयोजन 15 . डॉ मनु शिवपुरी बनी जिला स्थानीय शिकायत समिति की अध्यक्ष 16 . परिजनों से बिछड़े तीन बच्चों को पुलिस ने उनके परिजनों से मिलाया 17 . चोरी के दो अभियुक्तों को मंगलौर पुलिस ने 10 घंटे के भीतर दबोचा 18 . 198 ग्राम स्मैक के साथ तस्कर गिरफ्तार 19 . हंस फाउंडेशन की मोबाइल मेडिकल यूनिट ने ग्रामीणों के खून की जांच कर बांटी निशुल्क दवाएं 20 . जल संस्थान और सीवर विभाग की लापरवाही से मोहल्ले वाले परेशान 21 . अखिल भारतीय वैष्णव ब्राह्मण महासभा अजमेर के तत्वाधान में संपन्न हुआ वैष्णव ब्राह्मण मार्तंड हीरक जयंती स्मृति महोत्सव 22 . खानपुर पुलिस ने बल्वा कर जान से मारने की नियत से हमला करने वालो को किया गिरफ्तार 23 . सनातन धर्म व संस्कृति पर कुठाराघात करने वालों को सद्बुद्धि दे श्रीराम:महंत रवि पुरी 24 . वरिष्ठ नागरिक समिति पंचपुरी ने मनाया धूमधाम से दसवां वार्षिकोत्सव 25 . डीएम द्वारा कलियर शरीफ दरगाह प्रबंधक बनाई गई श्रीमती रजिया ने संभाला कार्यभार 26 . गुरु रविदास के बताए मार्ग पर चलकर ही होगा समाज का सुधार : सुबोध राकेश 27 . अघोषित विद्युत कटौती से व्यापारियों में रोष 28 . धूमधाम से मनाया गया गाजी सती वाले पीर बाबा का उर्स 29 . सराय के प्राइमरी स्कूल में भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन 30 . ग्राम मूलदासपुर माजरा में आयोजित हुई पुलिस की चौपाल 31 . रविदास जयंती पर ग्राम खेड़ली में निकाली गई भव्य शोभायात्रा 32 . विश्व कैंसर दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन 33 . रविदास जयंती को लेकर शांति समिति की बैठक 34 . श्री गुरु रविदास की जीवनलीला के 64वें वार्षिकोत्सव का शुभारंभ 35 . विभिन्न मामलों में वांछित चार वारंटी गिरफ्तार 36 . एनडीपीएस एक्ट के फरार आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार 37 . 5000 के इनामी अभियुक्त को झबरेड़ा पुलिस ने दबोचा 38 . स्कूटी चालक की हत्या का आरोपी ट्रक चालक 24 घंटे में गिरफ्तार 39 . 50 दिन 50 काम के 15वें दिन हाई मास्ट लाईट का लोकार्पण 40 . विश्व कैंसर दिवस पर हेमवती नंदन बहुगुणा मेडिकल कॉलेज में जागरूकता रैली के साथ ही 2025 तक उत्तराखंड को नशा मुक्त राज्य बनायेंगे- डॉ.धन सिंह रावत 41 . कड़ी मशक्कत के बाद परिजनों को ढूंढ कर बालक को किया गया सुपुर्द 42 . नशा मुक्ति का संदेश देती रंगोली है मानवीय भावनाओं का प्रतीक : प्रो. बत्रा 43 . ट्रक रोकने के प्रयास में ट्रक चालक ने स्कूटी सवार को कुचला हरिद्वार पुलिस ने 24 घंटे के भीतर दबोचा हत्या का आरोपी 44 . कमल का फूल, जानिए क्यों है हिन्दू धर्म में महत्वपूर्ण, कमल के फूल का ब्रह्मा व ब्रह्मांड से है खास संबंध 45 . एसटीएफ ने की एक और पच्चीस हजारी कुख्यात इनामी की गिरफ़्तारी 46 . भाजपा महिला मोर्चा की नवनियुक्त जिलाध्यक्ष अनामिका शर्मा का नगर विधायक मदन कौशिक के कार्यालय पर हुआ जोरदार स्वागत 47 . 21 वर्षीय विशाल की मौत के बाद क्षेत्र में छाया मातम परिजनों का रो रो कर बुरा हाल 48 . आम बजट से गायब हैं किसान, छात्र और नौजवान: प्रिंस जैन 49 . रुड़की नगर निगम ने गृहकर में छूट की समयावधि बढ़ाई 50 . झपटमार गिरोह के एक सदस्य को लक्सर पुलिस ने दबोचा,दो फरार

महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए भारतीय संविधान मे है संपूर्ण प्रावधान- ललित मिगलानी

महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए भारतीय संविधान मे है संपूर्ण प्रावधान- ललित मिगलानी

सबसे तेज प्रधान टाइम्स

हरीश वलेजा

आजकल प्राय:  देखने में आ रहा है कि समाज में महिलाओं पर फब्तियां कसना,अमर्यादित टिप्पणी करना, उनको देखकर गाने गाना,अभद्र,अमर्यादित इशारे करना बहुतायत हो गया है,जिसके कारण समाज में महिलाओं को मानसिक रूप से अत्यधिक कष्ट झेलना पड़ता है जिसका उनके सामान्य जीवन में बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है,इनसे निपटने के लिए हमारे भारतीय संविधान में महिलाओं की रक्षा के लिए कई कानून बनाए गए हैं।

आइए जानते हैं हाई कोर्ट के अधिवत्ता एवं भारतीय जागरुकता समिति के अध्यक्ष ललित मिगलानी से जिन्होंने महिलाओं से संबंधित महत्वपूर्ण कानुन की दी जानकारी।


महिलाओं के साथ छेड़खानी पर कानून

(धारा 509,294, 354 भारतीय दंड संहिता)

आईपीसी की धारा 294 के तहत सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरकतें करना या अश्लील गाने गाना या दूसरों को परेशान करने वाले शब्दों का इस्तेमाल करना अपराध है।


जो कोई किसी स्त्री की लज्जा का अनादर करने के आशय से कोई शब्द कहेगा, कोई ध्वनि या अंग विक्षेप करेगा, या कोई वस्तु प्रदर्शित करेगा, इस आशय से कि ऐसी स्त्री द्वारा ऐसा शब्द या ध्वनि सुनी जाए, या ऐसा अंगविक्षेप या वस्तु देखी जाए, अथवा ऐसी स्त्री की एकान्तता का अतिक्रमण करेगा, वह सादा कारावास से, जिसकी अवधि तीन वर्ष तक की हो सकती है।


भारतीय दंड संहिता की धारा 354 के अनुसार किसी भी स्त्री की लज्जा को भंग करने का मतलब उस पर किया गया हमला या अपराधिक बल का प्रयोग इस तरह के अपराध को वारदातों को इसमें शामिल किया गया है।

 

शब्द, इशारा या मुद्रा जिससे महिला की मर्यादा का अपमान हो

यदि कोई व्यक्ति किसी स्त्री की मर्यादा का अपमान करने की नीयत से किसी शब्द का उच्चारण करता है या कोई ध्वनि निकालता है या कोई इशारा करता है या किसी वस्तु का प्रदर्शन करता है, तो उसे एक साल तक की कैद या जुर्माना या दोनों की सजा होगी।

 

अश्लील मुद्रा, इशारे या गाने

यदि कोई व्यक्ति दूसरों को परेशान करते हुए सार्वजनिक स्थान पर या उसके आस-पास कोई अश्लील हरकत करता है या अश्लील गाने गाता, पढ़ता या बोलता है, तो उसे तीन महीने कैद या जुर्माना या दोनों की सजा होगी।


स्त्री के अभद्र रूप से प्रदर्शन पर कानून


(स्त्री अशिष्ट् रूप (प्रतिशेध) अधिनियम 1986)

 

स्त्री का अभद्र रूप या चित्रांकनः

 

यदि कोई व्यक्ति विज्ञापनों, प्रकाशनों, लेखों, तस्वीरों, आकृतियों द्वारा या किसी अन्य तरीके से स्त्री का अभद्र रूपण या प्रदर्शन करता है तो उसे दो से सात साल की कैद और जुर्माने की सजा होगी।


कार्यस्थल पर यौन शोषण पर कानून


(उच्चतम न्यायालय का विशाखा निर्णय, 1997)

 

-कार्यस्थल पर किसी भी तरह के यौन शोषण जैसे शारीरिक छेड़छाड़, यौन संबंध की माँग या अनुरोध, यौन उत्तेजक कथनों का प्रयोग, अश्लील तस्वीर का प्रदर्शन या किसी भी अन्य प्रकार का अनचाहा शारीरिक, शाब्दिक, अमौखिक आचरण जो अश्लील प्रकृति का हो, की मनाही है।

 

-यह कानून उन सभी औरतों पर लागू होता है, जो सरकारी, गैर सरकारी, पब्लिक, सार्वजनिक या निजी क्षेत्र में कार्य करती हैं।

 

-पीडि़त महिला को न्याय दिलाने के लिए हर संस्था/दफ्तर में एक यौन शोषण शिकायत समिति का गठन होना आवश्यक है। इस समिति की अध्यक्ष एक महिला होनी चाहिए। इसकी पचास प्रतिशत सदस्य महिलाएं होनी चाहिए तथा इसमें कम से कम एक बाहरी व्यक्ति को सदस्य होना चाहिए।



You Might Also Like...
× उत्तरी हरिद्धार
मध्य हरिद्धार
ज्वालापुर
कनखल
बी एच ई एल
बहादराबाद
शिवालिक नगर
उत्तराखंड न्यूज़
हरिद्धार स्पेशल
देहरादून
ऋषिकेश
कोटद्वार
टिहरी
रुड़की
मसूरी